राजिया रे दूहा सारु http://rajiaduha.blogspot.com क्लिक करावें रज़वाड़ी टेम री ठावकी ख्यातां रो ब्लॉग आपरै सांमै थोड़ाक टेम मा आरीयो है वाट जोवताईज रौ।

पिउ पीयै दारूह - प्रो. जी. एस. राठौड़

Rao GumanSingh Rao Gumansingh

पिउ पीयै दारूह का मंगलाचरण


वरद बण्यो रै रावळौ 
दूंदाळा गुणपत्त 
दारू रा दुख मांडवा 
बुध बगसो सुरसत्त

------------------
कंथ कमावै मोकळौ 
कलाळां सारूह 
घर रा सह ग्यारस करां 
पिउ पियै दारूह

उडकूं आधी रात तंइ 
वळै न वै बारूंह 
दहु रा दहु भूका सुआं 
पिउ पियै दारूह

किण घर जा सुख सांस लूं 
कुण जा पुकारूंह 
पीहरिये बाबल पियै 
(अठै) पिउ पियै दारूह

म्हां जसड़ी धण मोकळी 
म्हां जसड़ा मारूह 
सै सामल आंसू पियां 
पिउ पियै दारूह

घर ग्रस्ती री नाव या 
लागै किम पारूह 
प्याला री पतवार लै 
पिउ पियै दारूह 

बिन पत फळण्या रूंखड़ा 
(थारो) फळणों धिक्कारूंह 
बिन पत म्हारो घर करîो 
पिउ पियै दारूह 

क्यूं प्रभु थैं समदर मथ्यौ 
मो घर दुख सारूह 
विख अमरत तो कुण पियौ 
पिउ पियै दारूह


cont......Next Post